अब क्या कोई नज़रों से हमे गिरायेगा।
पायेगा क्या जो ज़िन्दगी मेरी मिटाएगा।
थक गए है जमाने से अपनी लाश ढोते।
फरिश्ता ही ख्वाब को सितारों से मिलाएगा!!
🔥🔥🔥

Spread the love

By Sanyasi

Leave a Reply

Your email address will not be published.