तेरी यादों को पहन लिया है कान मैं झुमकों की तरह जरा सा हवा का झोंका जो छू कर गुज़रे तो निगाहे ढूंढ़ा करती तुझे खयालों में बुलाने के लिए♥️

Spread the love

By Sanyasi

Leave a Reply

Your email address will not be published.